ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट के इस जज ने नूपुर शर्मा को सुनाई खरी-खरी, याचिका खरिज कर कहा टीवी में जाकर देश से मांगे माफी‘चायवाले’ ने पवार के ‘पॉवर’ और ठाकरे के ‘इमोशन’ का निकाला तोड़, ‘ऑटो चालक’ को इस वजह से बनाया महाराष्ट्र का चीफ मिनीस्टरउदयपुर घटना को लेकर कानपुर के मुस्लिम संगठन के साथ अन्य लोगों में उबाल, कन्हैयालाल के हत्यारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा दिलवाए ‘सरकार’महाराष्ट्र में फिर से बड़ा उलटफेर, शिंदे के साथ फडणवीस लेंगे शपथBIG BREAKING – देवेंद्र फडणवीस नहीं, एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, शाम को अकेले लेंगे शपथशिंदे बने मराठा राजनीति के ‘बाहुबली’ जानिए देवेंद्र भी ‘समंदर’ से क्यों कम नहींPanchang: आज का पंचांग 30 जून 2022, जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समयMonsoon Update: गाजियाबाद और आसपास के जिलों को करना होगा बारिश का इंतजार, पूर्वी यूपी में हल्की बारिश शुरूउदयपुर हिंसा का सायां यूपी तक पहुंचा, यूपी के मेरठ जोन में अलर्ट, सोशल मीडिया पर खाास नजरCorona Update: कोरोना ने बढ़ाई देश की टेंशन, एक ही दिन में बढ़ 25 फीसदी मरीज बढ़े, 30 लोगों की मौत

Unnao: दरोगा ने रिश्वत को ठहराया जायज, वीडियो हुआ वायरल

निशानाथ पाण्डेय, उन्नाव

पुलिस की कार्यशैली यूँ ही सवालों के घेरे में नहीं रहती। विभाग के लिए सुर्खियां बटोरने वाले बहादुरों की अमले में लंबी फौज है। ऐसे ही एक दारोगा जी का पुलिस कर्मियों को पाठ पढ़ाते वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

मामला उन्नाव के बीघापुर थाने में तैनात दरोगा उमेश त्रिपाठी का है। वह पुलिस की पाठशाला कार्यक्रम के दौरान पुलिस कर्मियों को ईमानदारी का पाठ पढ़ा रहे थे। तभी उन्होंने पुलिस की ईमानदारी में बोलते हुए कहा कि पुलिस विभाग से ज्यादा ईमानदार विभाग कोई हो ही नहीं सकता। उन्होंने बड़े गर्व से कहा कि पुलिस पैसा लेती है तो काम भी करके देती है। पुलिस से अच्छा विभाग अभी तक बना ही नहीं है। दारोगा जी यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि किसी विभाग में जाओ तो पैसे ले लेंगे लेकिन काम होगा इसकी गारंटी पुलिस विभाग ही देता है। उन्होंने विभाग की कर्मठता पर कसीदे पढ़ते हुए शिक्षकों पर तंज भी कस डाला। कहा कि मास्टर साहब लोगों को देखो घर में रहकर पढ़ाते हैं। छह: महीना घर में रहकर छुट्टियां भी काटते हैं। अगर कहीं कोरोना आ जाए तो साल भर न आए। जबकि पुलिस विभाग ही हमेशा सबके साथ खड़ा रहता है।

यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही मानो सोशल मीडिया के धुरंधरों को पंख लग गए हों। पुलिस की टांग खिंचाई शुरू हुई तो विभाग के आलाकमानों तक भी बात पहुंच गई। एमपी दिनेश त्रिपाठी ने आनन-फानन बीघापुर सीओ को मामले की जांच करने के फरमान जारी कर दिए है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities