बड़ी ख़बरें
10 साल की बेटियों ने लिखी गुमनाम नायिका पर किताब, सीएम शिवराज ने किया विमोचनजेम-टीटीपी के आतंकी को मिला था नूपुर को फिदायीन हमले से मारने का टॉस्क, सैफुल्ला ने इंटरनेट के जरिए वारदात को अंजाम देने की दी थी ट्रेनिंग, पढ़ें टेररिस्ट के कबूलनामें की ‘चार्जशीट’मध्य प्रदेश में नहीं रहेगा अनाथ शब्द, शिवराज सिंह ने तैयार किया खास प्लानजम्मू-कश्मीर की सरकार का आतंकियों के मददगारों पर बड़ा प्रहार, आतंकी बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार को नौकरी से किया बर्खास्त, पैसे की व्यवस्था के साथ वैज्ञानिक चलाते थे आतंक की ‘पाठशाला’होर्ल्डिंग्स से हटाया सीएम का चेहरा, तिरंगे की शान में सड़क पर उतरे योगी, यूपी में 4.5 करोड़ राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्यबांदा में नाव पलटने की घटना में 6 और शव मिले, अब तक 9 की मौतपहले फतवा जारी और अब लाइव प्रोग्राम में सलमान रुश्दी पर चाकू से किए कई वार14 साल के बाद माफिया के गढ़ में दाखिल हुआ डॉन, भय से खौफजदा मुख्तार और बीकेडी ‘पहलवान’पुलिस के पास होते हैं ‘आन मिलो सजना’ ‘पैट्रोल मार’ ‘गुल्ली-डंडा’ और ‘हेलिकॉप्टर मार’ हथियार, इनका नाम सुनते ही लॉकप में तोते की तरह बोलने लगते हैं चोर-लुटेरे और खूंखार बदमाशखेत के नीचे लाश और ऊपर लहलहा रही थी बाजरे की फसल, पुलिस ने बेटों की खोली कुंडली तो जमीन से बाहर निकला बुजर्ग का कंकाल, दिल दहला देगी हड़ौली गांव की ये खौफनाक वारदात

फर्जी दस्तावेजों के सहारे जमीनों के बैनामा पर फंसा रियल एस्टेट कारोबारी, मकान-फैक्ट्री से लेकर प्रट्रोल पंप में इनकम टैक्स की रेड से मची खलबली

कानपुर। कल्याणपुर थानाक्षेत्र स्थित नवशील धात के मकान नंबर 77 में बुधवार की सुबह इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों ने रेड की। रियल एस्टेट कारोबारी राकेश यादव के घर को बाहर से बंद कर दिया गया और सभी के आने-जाने पर रोक लगा दी गई। घर पर मौजूद लोगों के फोन बंद करा दिए गए और अफसर लॉकर से लेकर बेड को खंगाल रहे हैं। कार्रवाई की जानकारी होने पर रियल एस्टेट से जुड़े अन्य कारोबारियों में खलबली मच गई है।

नवशील धाम में करीब 5 वर्ष पहले राकेश रहने आए थे। इससे पहले वह एक बड़े कारोबारी के फ्लैट में रहते थे, जिनका देश में केबल नेटवर्क का कारोबार है। इसके अलावा राकेश यादव का रीयल एस्टेट, प्लास्टिक फैक्ट्री, जींस निर्माता, छपाई कारोबार सहित कई प्रतिष्ठान हैं। बुधवार की सुबह इनकम टैक्स की टीम लाव-लश्कर के साथ रियल एस्टेट कारोबारी राकेश यादव के घर पर छापा मारा। घर पर रियल एस्टेट कंपनी से जुड़े दस्तावेजों की जांच कर रही है। इसके अलावा आईटी की कई टीमें आवास के साथ उनके कारगिल पैट्रोल पंप, बर्रा स्थित उनकी फैक्ट्री, उन्नाव स्थित फैक्ट्री व दिबियापुर की प्लास्टिक फैक्ट्री में छापा मारकर कार्रवाई कर रही है।

इनकम टैक्स को शिकायत मिली थी कि, को घनाराम इन्फ्रा कंपनी द्वारा फर्जी दस्तावेजों के सहारे जमीनों का बैनामा कराया गया है। जिसमें करोड़ों की धांधली की गई है। इसी के चलते इनकम टैक्स विभाग ने कंपनी के कानपुर, लखनऊ, दिल्ली, झांसी समेत कई ठिकानों पर एक साथ छापेमारी शुरू की है। घनाराम इंफ्रा कंपनी दिल्ली में पंजीकृत है और इसमें बिशन सिंह, श्याम सुंदर सिंह, धनाराम और गुलराज कौर निदेशक मंडल में हैं। राकेश यादव की कंपनी का भी संबंध घनाराम इन्फ्राटेक कंपनी से होने की जानकारी सामने आई है। इसके चलते इनकम टैक्स विभाग की एक टीम ने राकेश के घर पर छापा मारकर जांच शुरू कर दी है।

नवशील धाम में रहने वाले लोगों के मुताबिक बिठूर क्षेत्र में भी उनकी संपत्ति हैं। राकेश के रीयल एस्टेट कारोबार में राजनीति से जुड़े कई लोगों का धन लगा है। राकेश यादव ने कानपुर नगर निगम में कई वर्ष तक ठेकेदारी की है। वह मूलरूप से कानपुर देहात के सिकंदरा का रहने वाला है। सूत्रों की मानें तो इनकम टैक्स विभाग को राकेश के घर से कर चोरी के अहम दस्तावेज हाथ लगे हैं। इसके अलावा पैसे भी बरामद होने की खबर है। फिलहाल इनकम टैक्स विभाग की कार्रवाई जारी है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities