बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

गोरखपुर के मनीष हत्याकांड की तरह घाटमपुर में भी मामला आया सामने, 15 हजार लेने के बाद दो दरोगाओं ने युवक को दी ‘थर्ड डिग्री’ हैलट अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा पीड़ित

कानपुर। सीएम योगी आदित्यनाथ पुलिस की क्लीन छवि को लेकर आएदिन आलाधिकारियों को दिशा-निर्देश देते रहते हैं, पर खाकीधारी अब भी पुराने ढर्रे पर चल रहे हैं। गोरखपुर स्थित मनीष हत्याकांड की तरह घाटमपुर में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोप है कि कोतवाली में तैनात दो दरोगाओं ने युवक को घर से उठा लिया। होटल में ले जाकर उससे 30 हजार रूपए की मांग की। 15 हजार देने पर दरोगा आगबबूला हो गए और उसकी बेरहमी से पिटाई की। घायल अवस्था में पीड़ित को उसके परिजन सीएचसी लेकर गए। हालत गंभीर होने पर डॉक्टर्स ने उसे हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

दरअसल, पांच दिसंबर 2021 को इटर्रा के सुरेंद्र का शव पड़ोस के गांव कल्याणपुर में तालाब किनारे मिला था। मृतक के परिवारवाले और ग्रामीणों ने गांव के एक युवक पर हत्या का आरोप लगाकर उसे पकड़ लिया और उसकी पिटाई करने लगे। मौके पर मौजूद पुलिस ने किसी तरह से युवक को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाया। इसी दौरान ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प हो गई। जिस पर पुलिस ने 50 से ज्यादा ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज कर लिया। उस समय बनाए गए वीडियो के आधार पर अब पुलिस कार्रवाई कर रही है। मामले की विवेचना दारोगा धर्मेंद्र कुमार के पास थी।

28 जुलाई को दारोगा धर्मेंद्र कुमार और इरफान खान ने दो सिपाहियों के साथ इटर्रा के 25 वर्षीय सुमित कुशवाहा को उठाया था। सुमित की मां बिट्टन का अरोप है कि पुलिस बेटे को लेकर नौरंगा के एक ढाबे पहुंची और जमकर उसकी पिटाई की। छोड़ने के एवज में 30 हजार रुपये की मांग कर दी। उन्होंने गांव के एक जनप्रतिनिधि के माध्यम से 15 हजार रुपये देकर अगले दिन 29 जुलाई को बेटे को छुड़ाया। पुलिस ने इतना पीटा था की सुमित चलने-फिरने में भी असमर्थ था। नौ अगस्त को उसको खून की पल्टियां हुईं, जिसके बाद उसे घाटमपुर सीएचसी लाया गया। जहां से उसे गंभीर हालत में कानपुर अस्पताल रेफर कर दिया गया।

सुमित की मां ने दारोगा धर्मेंद्र और इरफान पर आरोप लगाया था कि इस मामले को पुलिस ने कमाई का जरिया बना लिया है। गांव के तमाम युवकों को यूं ही उठा लिया जाता है। उनसे जमकर मारपीट होती। इसके बाद 20 से 30 हजार रुपये की मांग की जाती है। रुपये देने के बाद उन्हें छोड़ा जाता। बिट्टन ने इस मामले की डीजीपी, कमिश्नर और एसपी से आनलाइन शिकायत की थी। मामले की जानकारी जैसे ही जिले के आलाधिकारियों को हुई तो बुधवार को सीओ तेज बहादुर सिंह उससे मिलने पहुंचे। इंस्पेक्टर ने भी इटर्रा पहुंचकर जांच की।

एसपी तेज स्वरूप सिंह ने मामले की जांच एएसपी आदित्य शुक्ला को दी है। साथ ही प्रथम दृष्टया जांच के आधार पर दारोगा इरफान खान और धर्मेंद्र कुमार को लाइन हाजिर कर दिया गया है। सीओ तेज बहादुर सिंह ने एलएलआर पहुंचकर पीड़ित और उसके परिवारवालों के बयान लिए। दो दारोगाओं को लाइन हाजिर करने की पुलिस कार्रवाई को सुमित की बहन खुशबू ने पर्याप्त नहीं बताया है। उनका कहना है कि कुछ दिनों बाद दोनों को किसी और थाने में तैनाती मिलेगी, इससे उन्हें न्याय कैसे मिलेगा? खुशबू का कहना है कि वह सुमित को ले जाने वाले दोनों दारोगा और दोनों सिपाहियों पर रिपोर्ट दर्ज कराएंगी।

खुशबू के मुताबिक अस्पताल में सुमित की हालत ठीक नहीं है। सुमित के सिटी स्कैन में मस्तिष्क में खून के थक्के जमे पाए गए हैं। हालत ज्यादा बिगड़ गई है। बताया कि सुमित के दो साल का बेटा है और पत्नी अभी गर्भवती है। ऐसे में उसे कुछ हुआ तो परिवार का ख्याल कौन रखेगा। पीड़ित की बहन ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि दोनों दरोगाओं के खिलाफ मकुदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजा जाए। जिससे कि सुमित के तरीके से दूसरा इंसान पुलिस का शिकार न हो सके।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities