बड़ी ख़बरें
एक दुनिया का सबसे बड़ा ग्लोबल लीडर तो दूसरा देश का सबसे पॉपुलर पॉलिटिशियन, पर दोनों ‘आदिशक्ति’ के भक्त और 9 दिन बिना अन्न ‘दुर्गा’ की करते हैं उपासना, जानें पिछले 45 वर्षों की कठिन तपस्या के पीछे का रहस्यअब सिल्वर स्क्रीन पर दिखाई देगी निरहुआ के असल जिंदगी के अलावा उनकी रियल लव स्टोरी की ‘एबीसीडी’, शादी में गाने-बजाने वाला कैसे बना भोजपुरी फिल्मों का सुपरस्टार के साथ राजनीति का सबसे बड़ा खिलाड़ीटीचर की पिटाई से छात्र की मौत के चलते उग्र भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ जीप और वाहनों में लगाई आग, अखिलेश के बाद रावण की आहट से चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनातकुंवारे युवक हो जाएं सावधान आपके शहर में गैंग के साथ एंट्री कर चुकी है लुटेरी दुल्हन, शादी के छह दिन के बाद दूल्हे के घर से लाखों के जेवरात-नकदी लेकर प्रियंका चौहान हुई फरारअपने ही बेटे के बच्चे की मां बनने जा रही ये महिला, दादी के बजाए पोती या पौत्र कहेगा अम्मा, हैरान कर देगी MOTHER  एंड SON की 2022 वाली  LOVE STORYY आस्ट्रेलिया के खिलाफ धमाकेदार जीत के बाद भी कैप्टन रोहित शर्मा की टेंशन बरकरार, टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार समेत ये क्रिकेटर टीम इंडिया से बाहरShardiya Navratri 2022 : अकबर और अंग्रेजों ने किया था मां ज्वालाजी की पवित्र ज्योतियां बुझाने का प्रयास, माता रानी के चमत्कार से मुगल शासक और ब्रिटिश कलेक्टर का चकनाचूर हो गया था घमंडबीजेपी नेता का बेटे वंश घर पर अदा करता था नमाज, जानिए कापी के हर पन्ने पर क्यों लिखता था अल्हा-हू-अकबर17 माह तक एक कमरे में पति की लाश के साथ रही पत्नी, बड़ी दिलचस्प है विमलेश और मिताली के मिलन की लव स्टोरी‘शर्मा जी’ ने महेंद्र सिंह धोनी के 15 साल पहले लिए गए एक फैसले का खोला राज, 22 गज की पिच पर चल गया माही का जादू और पाकिस्तान को हराकर भारत ने जीता पहला टी-20 वर्ल्ड कप

अमित शाह के करीबी भूपेन्द्र सिंह बने यूपी के नए बीजेपी चीफ, जानें जाट नेता का सियासी कॅरियर, मुलायम सिंह के खिलाफ लड़ चुके हैं लोकसभा का इलेक्शन

लखनऊ । भारतीय जनता के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के बीजेपी के नए चीफ के नाम का ऐलान कर दिया। जाट नेता व योगी आदित्यनाथ में पंचायती राज मंत्री भूपेन्द्र सिंह को अब सूबे के बीजपी अध्यक्ष होंगे। भूपेन्द्र सिंह को बीजेपी के थिंक टैंक कहे जाने गृहमंत्री अमित शाह का करीबी बताया जा रहा है। नए बीजेपी चीफ का विवादों से दूर-दूर तक नाता नहीं हैं। इनकी जाटलैंड में अच्छी पकड़ बताई जाती है। किसान आंदोलन के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में भूपेंद्र सिंह ने अमल रोल निभाया था।

कौन हैं बीजेपी यूपी के नए चीफ
भूपेंद्र चौधरी का जन्म मुरादाबाद जिले के महेंद्री सिंकदरपुर गांव में साल 1966 में एक किसान परिवार में हुआ था। भूपेंद्र सिंह चौधरी की शुरुआती शिक्षा गांव के ही प्राथमिक स्कूल में हुई और फिर मुरादाबाद के आरएन इंटर कॉलेज से उन्होंने 12वीं तक की पढ़ाई की। वह आगे चलकर विश्व हिंदू परिषद से जुड़े और फिर 1991 में उन्होंने बीजेपी ज्वाइन की। वह फिलहाल यूपी विधान परिषद के सदस्य हैं। उन्हें 10 जून 2016 को उत्तर प्रदेश विधान परिषद का सदस्य चुना गया था। वह बीजेपी के 2012 में पार्टी के क्षेत्रीय अध्यक्ष रहे हैं। 2017 व 2022 में भूपेंद्र सिंह प्रदेश सरकार में मंत्री बनाए गए।

रुहेलखंड क्षेत्र की राजनीति में काफी सक्रिय
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश (जेपी) नड्डा ने गुरुवार को भूपेन्द्र सिंह को बीजेपी उत्तर प्रदेश का अध्यक्ष नियुक्त किया है। भूपेन्द्र सिंह को बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने बुधवार को नई दिल्ली बुलाया था। इसके बाद से ही उनके इस पद पर आसीन होने की अटकलें लगने लगी थीं। भपेन्द्र सिंह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के साथ ही रुहेलखंड क्षेत्र की राजनीति में काफी सक्रिय हैं। धीर-गंभीर स्वाभाव के भूपेन्द्र सिंह का विवादों से कोई नाता नहीं है। पार्टी लाइन पर चलने वाले चौधरी भूपेन्द्र सिंह को बीजेपी के थिंक टैंक माने जाने वाले अमित शाह का करीबी माना जाता है। बताया जा रहा है कि डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने अमित शाह और जेपी नडडा को भूपेंद्र सिंह को यूपी की बागडोर दिए जाने को कहा था।

लंबे समय तक संगठन में रहे हैं भूपेंद्र सिंह
यूपी के नए बीजेपी अध्यक्ष बनाए गए भूपेंद्र सिंह चौधरी जाट बिरादरी और पश्चिमी यूपी में मजबूत पकड़ रखते हैं। यही वजह है कि पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने पश्चिमी यूपी में किसान आंदोलन के बाद भी शानदार जीत हासिल की थी। इसी के चलते इन्हें दूसरी बार योगी सरकार में मंत्री बनाया गया था। इससे पहले उन्होंने संगठन में लंबे समय तक काम किया है। क्षेत्रीय अध्यक्ष तक की जिम्मेदारी तक निभाई है। पश्चिमी यूपी के मुरादाबाद की कांठ विधानसभा सीट जाट लैंड के रूप में भी जाना जाता है। भूपेंद्र चौधरी इसी जाट लैंड के रहने वाले हैं।

1999 में लड़ा था मुलायम सिंह के खिलाफ चुनव
भूपेंद्र चौधरी 1999 में सपा संस्थापक मुलायम सिंह के खिलाफ लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। लोकसभा चुनाव में हार के बाद भी बीजेपी ने भूपेंद्र चौधरी पर पूरा भरोसा रखा। इसका असर भी देखने को मिल रहा है। सूत्रों की मानें तो सीएम योगी आदित्यनाथ और दोनों डिप्टी सीएम के अलावा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह भी भूपेंद्र सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर सहमत थे। जानकार बताते हैं कि भूपेंद्र सिंह और योगी आदित्यनाथ के बीच अच्छे रिश्ते हैं।

भूपेंद्र सिंह ये रहा सियासी सफर
1989 में भारतीय जनता पार्टी से जुड़े
1990 जिला अध्यक्ष विश्व हिंदू परिषद मुरादाबाद रहे
1994 में कोषाध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी मुरादाबाद रहे
1995 में महामंत्री भारतीय जनता पार्टी मुरादाबाद रहे
1996 से 2000 जिला अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी मुरादाबाद रहे
1999 संभल से भारतीय जनता पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी रहे
2000-2007 मंडल संयोजक भारतीय जनता पार्टी मुरादाबाद रहे
2007-2011 भारतीय जनता पार्टी क्षेत्रीय मंत्री पश्चिम उत्तर प्रदेश रहे
2011-2018 भारतीय जनता पार्टी क्षेत्रीय अध्यक्ष पश्चिमी उत्तर प्रदेश रहे
2016 विधान परिषद सदस्य रहे
2017 राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार पंचायती राज एवं निर्माण विभाग उत्तर प्रदेश रहे 2019 कैबिनेट मंत्री पंचायती राज विभाग उत्तर प्रदेश सरकार
25 मार्च 2022 कैबिनेट मंत्री पंचायती राज विभाग उत्तर प्रदेश रहे

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities