ब्रेकिंग
Kanpur: बीएसपी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा का योगी सरकार पर हमला, बोले- बेलगाम हो चुकी है योगी सरकारShahjahanpur: कानून के राज में कानून व्यवस्था ध्वस्त, बदमाशों ने कोर्ट में निपटाया वकीलSiddharthnagar: भाकियू ने केंद्रिय मंत्री अजय मिश्रा को हटाने के विरोध में जाम किया रेलवे ट्रैकHamirpur: किसानों के रेल रोको आंदोलन को लेकर प्रशासन अलर्ट, तैनात की गई जीआरपी और पुलिसAuraiya: किसान यूनियन द्वारा रेल रोकने के मामले में पुलिस प्रशासन सख्तUnnao: किसानों की ओर से रेल रोको आंदोलन का आह्वान, पुलिस और प्रशासनिक टीमें अलर्टHamirpur: आकाशीय बिजली गिरने से बेटे की मौत, मां की हालत गंभीरAgra: किसान आंदोलन के मद्देनजर रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजामAgra: युवक के ऊपर टूट कर गिरा बिजली का तार, करंट लगने से युवक की मौतJhansi: रजत पदक विजेता शैली सिंह का गुरु पद्मश्री अंजु बॉबी जार्ज के साथ हुआ भव्य सम्मान

Gaziabad: जाम के झाम में फंसी गाड़ियां, बेहाल हुए लोग

दिनेश सिंह, गाजियाबाद

दिल्ली-एनसीआर के लिए  भविष्य में लाइफ लाइन कही जाने वाली रीजनल रेल प्रोजेक्ट पूरे भारत की पहली परियोजना है। जिसके प्रथम चरण में सराय कालेखाँ से मोदीपुरम के बीच में काम चल रहा है। परियोजना में सर्वप्रथम आनंद विहार से दुहाई के बीच में लगभग 60% निर्माण कार्य हो चुका है। रीजनल रेल अधिकारियों के अनुसार, इसकी शुरुआत 2023 तक हो जाएगी। ऐसा माना गया है कि परियोजनाओं में विलंब भी होता है। लेकिन जिस परियोजना में बिना वजह परेशानी पैदा की  जाए, तो कार्य दायी संस्था को जिम्मेदारी लेना चाहिए। और प्रस्तुत समस्या का निवारण  करना चाहिए। 

आपको बता दें कि गाजियाबाद मेरठ तिराहे से मोदीनगर तक इन 4 जगहों पर सबसे ज्यादा जाम लगता है। इस जाम को  कुछ हद तक दूर किया जा सकता है। ताजा मामला दुहाई रीजनल रेल मेट्रो स्टेशन का है। जहां पर दोनों तरफ भारी  अतिक्रमण द्वारा सड़क को संकरा कर दिया गया है। यहीं पर दुहाई  स्टेशन का भी निर्माण हो रहा हैइससे दोनों तरफ से टीन सीट लगाने से सड़क मात्र 10 से 12 फुट की रह जाती है। उस पर भी इतने बड़े भारी वाहनों का दबाव के बावजूद भी ट्रैफिक पुलिस वाहनों को खड़ा करके उगाही करती  है।  बेतरतीब टेंपो वाले सवारियों को उतारते चढ़ाते रहते हैं।  बस वाले बीच सड़क पर बस रोक देने से जाम लग जाता है। जाम के मुख्य चार कारण है एक तो अतिक्रमण, ट्रैफिक पुलिस की अवैध वसूली ,बेतरतीब सवारी उतारते- चढ़ाते टैम्पू चालक , लोकल बस एवं स्टेशन निर्माण करने वाले ठेकेदार द्वारा अनियंत्रित स ड़क पर खड़ा कर देने वाले वाहन। इस वजह से अक्सर 2 से 3 किलोमीटर तक दोनों तरफ लंबा जाम लग जाता है इसमें फंसा बाइक सवार भी घंटों में भी नहीं निकल पाता। जो दूरी मुरादनगर से गाजियाबाद की मात्र 20 से  25 मिनट में होनी चाहिए वह बढ़कर के एक से सवा घंटा हो जाती है।  इस अनायास  के जाम को बहुत हद तक दूर किया जा सकता है। लेकिन इसके लिए पुलिस प्रसाशन और कार्यदायी संस्था  को सामूहिक प्रयास करना होगा। मगर अब तक कोई सार्थक प्रयास नहीं हो रहा है। 

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities