Notice: Undefined property: AIOSEO\Plugin\Common\Models\Post::$options in /home/customer/www/astitvanews.com/public_html/wp-content/plugins/all-in-one-seo-pack/app/Common/Models/Post.php on line 104
dir="ltr" lang="en-US" prefix="og: https://ogp.me/ns#" > मुलायम सिंह से सीखा राजनीति का ‘ककहरा’ सपा से बागी होकर शिवपाल के साथ बनाई प्रसपा, मैनपुरी सीट पर डिम्पल यादव के खिलाफ चुनाव के मैदान में उतारा ‘नेता जी’ का ये ‘चेला’ - Astitva News
बड़ी ख़बरें
कौन है वो Nukush Fatima जिसकी एक गुहार में Cm Yogi ने प्रशासन की लगा दी क्लास और 24 घंटे में वो कर दिया जो 20 सालों में नही हो पाया !अब फातिमा का परिवार Yogi को दे रहा है दुआएं !आज पूरा देश #RohiniAcharyaको कर रहा है सलाम,Lalu की बेटी ने अपनी किडनी देकर पिता को दी नई जान !Gujrat के बेटे ने बदल दी सियासी बाजी ,सातवीं बार फिर गुजरात में खिलेगा कमल Congress के बयानवीरों ने फिर डुबोई कांग्रेस की लुटिया !Irfan Solanki News : कानून के शिकंजे से घबराए इरफान सोलंकी ने भाई समेत किया सरेंडर, पुलिस कमिश्नर आवास के बाहर फूट-फूट कर रहे विधायक, जानें किन धाराओं में दर्ज है FIRPM Modi Roadshow : गुजरात विधानसभा चुनाव में प्रचंड मतदान के बाद पीएम नरेंद्र मोदी का मेगा रोड शो, 3 घंटे में 50 किमी से अधिक की दूरी के साथ ‘नमो’ का विपक्ष पर ‘हल्लाबोल’‘बाहुबली’ पायल भाटी ने ‘बदलापुर’ के लिए रची हैरतअंगेज कहानी, हेमा का कत्ल करने के बाद पुलिस से इस तरह बचती रही बडपुरा गांव की ‘किलर लेडी’Gujarat Assembly Election 2022 : गुजरात में है आजाद भारत का ऐसा पोलिंग बूथ, जहां सिर्फ एक वोटर जो 500 शेरों के बीच करता वोट, लोकतंत्र के त्योहार की बड़ी दिलचस्प है स्टोरीगुजरात में किस दल की बनेगी ‘सरकार’ को लेकर जारी है मदतान, रवींद्र जडेजा की पत्नी समेत इन 10 दिग्गज चेहरों के साथ मोरबी हादसे में नायक बनकर उभरे इस नेता पर सबकी नजरGujarat Assembly Election : गुजरात में भी है मिनी अफ्रीका, जहां पहली बार मतदान कर रहे मतदाता, बड़ी दिलचस्प है यहां की गाथाGujrat Election 2022: योगी मॉडल का गुजरात में बज रहा है डंका . Modi के बाद Yogi की सबसे ज्यादा डिमांड

मुलायम सिंह से सीखा राजनीति का ‘ककहरा’ सपा से बागी होकर शिवपाल के साथ बनाई प्रसपा, मैनपुरी सीट पर डिम्पल यादव के खिलाफ चुनाव के मैदान में उतारा ‘नेता जी’ का ये ‘चेला’

मैनपुरी। Mainpuri Lok Sabha by-election 2022 गुजरात विधानसभा चुनाव के साथ-साथ उत्तर प्रदेश की मैनपुरी लोकसभा सीट के लिए मतदान के ऐलान के बाद सूबे का सियासी पारा चढ़ा हुआ है। मुलायम सिंह यादव  Mulayam Singh Yadav के निधन के बाद रिक्त हुई मैनपुरी सीट पर चुनाव होने हैं। समाजवादी पार्टी  Samajwadi Party ने पूर्व सांसद डिम्पल यादव  Dimple Yadav को मैदान में उतारा है तो वहीं बीजेपी BJP ने नेता जी के करीबी रहे रघुराज शाक्य  Raghuraj Singh Shakya को पार्टी का सिंबल देकर यहां पर मुकाबला बड़ा रोचक बना दिया है। रघुराज शाक्य के बारे में बताया जाता है कि, उन्होंने नेता जी से राजनीति का ककहरा सीखा। समाजवादी पार्टी से सांसद और विधायक रहे। 2016 में शिवपाल सिंह यादव Shivpal Singh Yadav के साथ रघुराज शाक्य सपा से अलग हो गए और दोनों ने मिलकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया Progressive Samajwadi Party Lohia का गठन किया।

कौन हैं रघुराज सिंह शाक्य
रघुराज सिंह का जन्म एक जुलाई 1968 को इटावा के धौलपुर खेरा गांव में हुआ। आगरा यूनिवर्सिटी के आदर्श कृष्णा कॉलेज से 1991 में कॉमर्स में मास्टर्स की पढ़ाई पूरी की। कॉलेज में छात्र संघ की राजनीति से भी जुड़े रहे। बाद में युवा अधिकार जागरन मंच और सूर्यवंशी एकीकरण मंच जैसे संगठनों से भी जुड़े। मई 1998 में सीमा सिंह से शादी हुई। रघुराज के दो बेटे हैं जिनका नाम पीयूष राज शाक्य और आयुष राज शाक्य है। अपने आपको मुलायम सिंह का ’शिष्य’ बताने वाले रघुराज सिंह समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं।

बीजेपी ने शाक्य को दिया टिकट
बीजेपी ने मैनपुरी उपचुनाव के लिए शिवपाल सिंह यादव के करीबी रघुराज सिंह शाक्य को अपना उम्मीदवार बनाया है। रघुराज शाक्य 1999 और 2004 में समाजवादी पार्टी से दो बार सांसद भी रह चुके हैं। रघुराज शाक्य इटावा के ही रहने वाले हैं और 2012 में सपा के टिकट इटावा सदर से विधायक रहे हैं। शाक्य वोटर्स में रघुराज अच्छी पैठ है.। बीजेपी इस बात को खास तौर पर ध्यान में रखकर उन्हें उम्मीदवार बनाया है। सक्रिय राजनीति में आने से पहले रघुराज सिंह नगरपालिका इटावा में क्लर्क के तौर पर काम करते थे।

सपा के गठन के वक्त मुलायम सिंह के साथ थे रघुराज शाक्य
रघुराज, राजनीति में आने का श्रेय मुलायम सिंह यादव को ही देते हैं। रघुराज शाक्य की अपने क्षेत्र में अलग पहचान थी। वो मुलायम सिंह यादव के संपर्क में आए। अक्टूबर 1992 में जब मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी बनाई, तो रघुराज भी उनके साथ थे। जल्द ही रघुराज की संसदीय राजनीति की भी शुरुआत हो गई। सांसद, विधायक के साथ-साथ रघुराज सिंह शाक्य कई मंत्रालयों की समिति के सदस्य भी रहे हैं। 2017 में टिकट कटने के बाद रघुराज सिंह शक्य ने समाजवादी पार्टी छोड़ दी।

तब दिया था ये बयान
समाजवादी पार्टी छोड़ने के बाद रघुराज शाक्य ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा था, “अगर मुलायम सिंह यादव का अपमान किया जा रहा है, तो मेरे विधायक होने का कोई मतलब नहीं है। मैंने टिकट के लिए इस्तीफा नहीं दिया है, ना ही मैं किसी दूसरी पार्टी में शामिल होने जा रहा हूं। क्योंकि ’समाजवाद’ मेरे खून में है। लेकिन नेताजी के लिए इसका त्याग किया। मौजूदा परिस्थियों में पार्टी से इस्तीफा देना ही सही है।

प्रसपा के गठन के वक्त शिवपाल के साथ थे शाक्य
समाजवादी पार्टी छोड़ने के साथ ही रघुराज शक्य, शिवपाल सिंह यादव के साथ आ गए और प्रसपा नाम की नई पार्टी की अधारशिला दोनों ने मिलकर रख दी। शाक्य को पार्टी के कानपुर क्षेत्र का प्रभारी बनाया गया था। बाद में प्रदेश उपाध्यक्ष बनाए गए। प्रसपा में शामिल होने के वक्त शाक्य ने कहा था कि, नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने मुझसे कहा था कि मैं शिवपाल जी के साथ रहूं। समाजवादी पार्टी में जिनकी अवहेलना की गई, वे सभी शिवपाल जी के साथ हैं। हम सभी उन्हें (शिवपाल) मुख्यमंत्री बनाने के लिए काम करेंगे।

2022 में प्रसपा से दिया था इस्तीफा
2022 के विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने प्रसपा के इस्तीफा दे दिया। प्रसपा के बाद रघुराज शाक्य बीजेपी में शामिल हो गए। उन्होंने 2022 के विधानसभा चुनाव में इटावा सदर से टिकट की दावेदारी पेश की थी। हालांकि अब डिंपल यादव के खिलाफ जातिगत आंकड़ों को साधने के लिए बीजेपी ने इस सीट पर रघुराज शाक्य को उम्मीदवार बनाया है। मैनपुरी में यादव के करीब 4.25 लाख वोट हैं, जबकि शाक्य वोटर्स की संख्या करीब 3.25 लाख है।

शाक्य ने अखिलेश पर लगाए आरोप
शाक्य ने बीजेपी से टिकट मिलने के बाद मीडिया से कहा कि मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी को बुलंदियों पर पहुंचाने का काम किया था। उन्होंने आरोप लगाया कि अखिलेश ने अपने पिता का अपमान किया। अखिलेश को विरासत मिलनी ही थी, इसके बावजूद उन्होंने पिता को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटा दिया। शाक्य ने कहा कि जो बुजुर्गों का अपमान करता है, वो कभी आगे नहीं बढ़ सकता है।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities