ब्रेकिंग
नवाबगंज पुलिस ने नहीं सुनी शिकायत तो पिता ने बेटे की खुद शुरू की पड़ताल, सीसीटीवी फुटेज देकर थाना प्रभारी से ‘घर के चिराग’ को बचाने की लगाई फरियाद, पर लाश मिली ‘सरकार’गोकश और पुलिस के बीच फायरिंग की तड़तड़ाहट से थर्राया घाटमपुर, गोली लगने से इंस्पेक्टर समेत दो घायल’अग्निपरीक्षा’ में पास हुए एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र की नवनियुक्त सरकार ने जीता विश्वास मत, जानें कांग्रेस-एनसीपी के आठ विधायक वोटिंग से क्यों रहे दूरदोस्ती पर भारी पड़ गया ‘नफरत’ वाला खंजर’, गला काटने के बाद अंतिम संस्कार में शामिल हुआ ‘जल्लाद’…हैलो मैं अल कायदा का सदस्य बोल रहा हूं, ‘महामंडलेश्वर आपके साथ गृहमंत्री अमित शाह और सीएम योगी को बम से उड़ा दूंगा’राजीव नगर में अतिक्रमण हटाने पहुंचे नगर निगम के दस्ते पर हमला, एसपी समेत कई पुलिसकर्मी घायल, 17 जेसीबी के साथ दो हजार जवानों ने 70 घरों को ढहायाSpecial story on anniversary of bikru case – ऐसा था विकास दुबे कानपुर वाला, 2 जूलाई को बहाया ‘खाकी के खून का दरिया’उदयपुर केस में सामने आई सनसनीखेज साजिश, दरिंदों ने 2013 में खरीदी ‘2611’ वाली तारीखISIS स्टाइल में उदयपुर के बाद अमरावती में हत्या, दरिंदों ने चाकू से दवा कारोबारी का गला काटाउदयपुर के कन्हैया हत्याकांड में शामिल थे 5 आतंकी, अपने साथियों को बचाने के लिए दुकान के पास खड़े थे दो आतंकी

एक हाथ में चालीसा तो दूसरे में बजरंगबली की मूर्ति लेकर राणा गरजीं, उद्धव ठाकरे को चुनाव लड़ने की दी चुनौती

मुम्बई। अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा रविवार को अस्पताल से बाहर आईं। एक हाथ में चालीसा तो दूसरे में बजंरगबली की मूर्ति लेकर राणा ने मीडिया से बातचीत के दौरान महाराष्ट्र सरकार पर जमकर बरसीं। उन्होंने कहा कि, मैं मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को.चुनौती देती हूं कि वे महाराष्ट्र में कहीं से भी चुनाव लड़ें और मैं उनके खिलाफ खड़ी होऊंगी। राणा ने कहा,हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए मैं 14 दिन तो क्या 14 साल भी जेल में रहने को तैयार हूं।

चार दिन के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज
महाराष्ट्र के अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा को कोर्ट ने जमानत पर रिहा कर दिया था। जेल में जमीन पर लेटने से वह बीमार पड़ गई थीं। राणा को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें स्पोंडिलाइटिस, सीने और गले के अलावा शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द की शिकायत थी। रविवार को उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। अस्पताल से निकलने के दौरान नवनीत राणा के हाथ में भगवान हनुमान की मूर्ति भी थी।

पूर्वजों के दम पर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे
नवनीत राणा ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे, एक नारी से डर गए और हनुमान चालीस का पाठ के आरोप में जेल भिजवा दिया। लेकिन हम उनसे डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने आगे कहा कि, आने वाले बीएमसी चुनाव में उन्हें चुनौती देंगे। राणा ने कहा कि, अगर उनमें हिम्मत है तो वह चुनाव लड़कर और जीत कर दिखाएं। राणा ने कहा कि उद्धव ठाकरे जिस कांस्टीट्यूएंसी से चुनाव लड़ेंगे मैं भी वहां उनके सामने चुनाव लडूंगी। उद्धव ठाकरे के सामने एक महिला उम्मीदवार होगी और तब हम यह देखेंगे कि जनता किसके साथ है। राणा ने उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि वह अपने पूर्वजों के दम पर आज मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे हैं।

14 साल तक जेल में रहने को तैयार
नवनीत राणा ने कहा कि हनुमान चालीसा और जय श्री राम बोलने के लिए मैं 14 दिन क्या चौदह साल भी जेल में रहने को तैयार हूं। जो उद्धव ठाकरे ने किया है उसका जवाब उन्हें जनता जरूर देगी। नवनीत राणा ने कहा कि उद्धव ठाकरे मुंबई और महाराष्ट्र की जनता पर अत्याचार कर रहे हैं। इसका जवाब आने वाले बीएमसी चुनाव में मुंबई की जनता उन्हें जरूर देगी। नवनीत राणा ने कहा कि मैं खुद शिवसेना के खिलाफ बीएमसी के चुनाव में प्रचार करूंगी।

23 अप्रैल को किया गया था गिरफ्तार
बता दें, नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा को मुंबई पुलिस ने 23 अप्रैल को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निजी आवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने के आह्वान के बाद ’देशद्रोह’ और ’विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने’ के आरोप में गिरफ्तार किया था। उन्हें एक विशेष अदालत ने सशर्त जमानत दी थी।

Related posts

Leave a Comment

अपना शहर चुने

Top cities